Solar System

ये इन्वर्टर बैटरी चलाएंगे पूरा पेट्रोल पंप का लोड

ये इन्वर्टर बैटरी चलाएंगे पूरा पेट्रोल पंप का लोड

ज्यादातर आपने देखा होगा कि पेट्रोल पंप पर हमेशा डीजल जनरेटर का उपयोग किया जाता है. क्योंकि डीजल जनरेटर से आप कभी भी किसी भी समय बिजली प्राप्त कर सकते हैं सिर्फ आपको डीजल डालकर उसे चलाने की आवश्यकता पड़ती है. लेकिन डीजल जनरेटर के अपने कुछ फायदे के साथ-साथ उसके काफी सारे नुकसान भी होते हैं.

डीजल जनरेटर को चलाने के लिए आपको डीजल की तो आवश्यकता पड़ती ही है साथ ही समय-समय पर उसकी सर्विस भी करवानी पड़ती है. इसीलिए डीजल को उपयोग करने का खर्च काफी ज्यादा बढ़ जाता है. इसके अलावा डीजल जनरेटर ध्वनि प्रदूषण और वायु प्रदूषण भी करता है जो की वातावरण के लिए काफी ज्यादा हानिकारक होते हैं.

डीजल जनरेटर के नुकसान

जैसा कि ऊपर आपको बताया गया है डीजल जनरेटर को उपयोग करने का खर्च काफी ज्यादा आता है उसी के साथ प्रदूषण भी काफी ज्यादा करता है लेकिन इसके अलावा डीजल जनरेटर को उपयोग करने का एक और सबसे बड़ा नुकसान होता है कि डीजल जनरेटर का चेंज ओवर टाइम 3 से 5 मिनट तक का होता है.

पेट्रोल पंप पर किसी गाड़ी में तेल भरा जा रहा है और बिजली चली जाए तो वापस से मशीन को जनरेटर पर शुरू करने के लिए 3 से 5 मिनट तक का समय लग जाता है. इसी कारण पेट्रोल पंप मालिक का काफी ज्यादा नुकसान हो जाता है. तो इन सभी दिक्कत से बचने के लिए पेट्रोल पंप पर Su-vastika कंपनी का ESS लगाया गया है.

ये इन्वर्टर बैटरी चलाएंगे पूरा पेट्रोल पंप का लोड

यह दिखने में तो एक साधारण इनवर्टर की तरह लगते हैं लेकिन यह सिस्टम लगाने के बहुत सारे फायदे होते हैं. सुवास्तिका कंपनी के इस एनर्जी स्टोरेज सिस्टम में आपको लिथियम बैटरी देखने को मिलेगी. और लिथियम बैटरी के फायदे लेड एसिड बैटरी के मुकाबले कहीं ज्यादा होते हैं.

पेट्रोल पंप पर लगाए गए इस एनर्जी स्टोरेज सिस्टम में 30 केवीए का इनवर्टर लगाया गया है और 23 किलो वॉट की लिथियम बैटरी लगाई गई है. जैसा कि आप फोटो में देख सकते हैं यह इनवर्टर बैटरी काफी छोटे साइज के हैं. अगर इतनी क्षमता वाला डीजल जनरेटर लगाया जाए तो उसे काफी जगह की जरूरत पड़ेगी और अगर इसकी जगह साधारण लेड एसिड बैटरी वाला सेटअप लगाया जाए तो उसके लिए आपको एक बड़े कमरे की आवश्यकता होगी.

Su-vastika ESS Specifications

स्वस्तिक कंपनी के इस एलर्जी स्टोरेज सिस्टम में 30Kva के इनवर्टर का उपयोग किया गया है जिस पर लगभग 23kw तक का लोड एक समय पर चला सकते हैं. इस इनवर्टर के साथ में 23Kw लिथियम बैटरी का उपयोग किया गया है.

एक समय पर लगभग 10Kw चलते हैं तो, यह बैटरी बैंक लगभग 2 घंटे के करीब बैकअप दे देता है. अगर लोड 22 किलोवाट के करीब चलते हैं तो यह बैटरी बैंक लगभग 1 घंटे के करीब बैकअप दे देता है. Su-vastika कंपनी में आप अपनी जरूरत के अनुसार कितना भी बड़ा एनर्जी स्टोरेज सिस्टम तैयार करवा सकते हैं.

Su-vastika ESS Warranty

वारंटी की बात करें तो आपको स्वस्तिका के सभी प्रोडक्ट पर अलग-अलग वारंटी देखने को मिलती है इनके एनर्जी स्टोरेज सिस्टम के ऊपर आपको लगभग 3 साल तक की वारंटी मिलती है लेकिन इस सिस्टम में लिथियम बैटरी का उपयोग किया जाता है जिसकी लाइफ लगभग 10 साल के करीब होती है.

Su-vastika ESS Price

कीमत की बात करें तो एनर्जी स्टोरेज सिस्टम अलग-अलग कीमत में आता है. जितनी ज्यादा कैपेसिटी का एनर्जी स्टोरेज सिस्टम लेंगे उसकी कीमत उतनी ज्यादा हो जाती है और जितना छोटा एनर्जी स्टोरेज सिस्टम लेंगे वह उतना सस्ता पड़ता है. इनके एनर्जी स्टोरेज सिस्टम की कीमत जानने के लिए नीचे दिए गए कांटेक्ट नंबर पर कॉल करके आप जान सकते हैं.

30Kva ESS + 23KWh Lithium Battery Price – Rs.10.5 Lakh (Approx.)

Contact for Latest Price : +91 9711 774744

स्वस्तिका एनर्जी स्टोरेज सिस्टम लगाने के फायदे

इस स्टोरेज सिस्टम को लगाने के बहुत सारे फायदे होते हैं क्योंकि इस एनर्जी स्टोरेज सिस्टम में स्मार्ट इन्वर्टर मिलता है जिनके अलग फायदे होते हैं और लिथियम बैटरी मिलती है जिनके अलग फायदे होते हैं तो सबसे पहले हम बात करते हैं इस स्मार्ट इन्वर्टर के फायदे की.

1. Remote Monitoring : इस इनवर्टर को आप ब्लूटूथ या वाई-फाई के माध्यम से अपने फोन से कनेक्ट कर सकते हैं और इस इनवर्टर की रिमोट मॉनिटरिंग कर सकते हैं. किसी के साथ आपको अपनी सिस्टम की वारंटी भी इनकी अप में देखने को मिलती है. इसके अलावा इनवर्टर के सभी पैरामीटर भी अप के अंदर दिखाए जाते हैं.

2.Digital Warranty : इस इनवर्टर पर आपको डिजिटल वारंटी मिलती है जिसका मतलब है कि आप बिना पेपर के अपने इनवर्टर की वारंटी क्लेम कर सकते हैं. लेकिन इससे भी बड़ा फायदा यह होगा कि अगर आपकासिस्टम 10 दिन बंद रहता है तो आपके सिस्टम की वारंटी 10 दिन बढ़ जाएगी. जितने दिन आपका सिस्टम चलेगा उतनी ही दिन की वारंटी गिनी जाएगी. और यह वारंटी आप इनकी अप के ऊपर देख भी पाएंगे कि आपका सिस्टम की कितनी वारंटी बची है.

3. Fast Switching : इन इनवर्टर में आईजीबीटी का उपयोग किया जाता है जो की बहुत फास्ट स्विचिंग करते हैं और काफी कम पावर लॉस करते हैं जिसके कारण इस इनवर्टर की एफिशिएंसी हाई हो जाती है.

4. Rugged construction: इनवर्टर में आईजीबीटी का उपयोग किया जाता है जो की बहुत ही पावरफुल है और काफी खराब वातावरण में भी काफी लंबे समय तक काम कर सकते हैं. के कारण इसका उपयोग इंडस्ट्रियल उपकरण को चलाने के लिए भी किया जाता है

5. Protection : सुवास्तिका के सभी इनवर्टर में आपको सभी तरह की प्रोटेक्शन देखने को मिलती है चाहे ओवरलोड की प्रोटेक्शन हो या शार्ट सर्किट की प्रोटेक्शन हो. तो इसीलिए आप इनके इनवर्टर को पूरी तरह सुरक्षित मान सकते हैं.

Su-vastika लिथियम बैटरी के फायदे

लिथियम बैटरी लगाने के अपने आप में ही बहुत ज्यादा फायदे होते हैं. लेकिन स्वस्तिक कंपनी में आपको लगभग लेड एसिड बैटरी की कीमत में ही लिथियम बैटरी मिल जाती है जिसके कारण यह शब्द से सस्ते लिथियम बैटरी बन जाती है.

1. Lifespan : लेड एसिड बैटरी की लाइफ लगभग 30 से 5 साल होती है. वही इनकी लिथियम बैटरी की लाइफ लगभग 10 साल के करीब होती है तो आप 10 साल तक बिना मेंटेनेंस के इस बैटरी को उपयोग कर सकते हैं.

2.Charge Cycle : लेड एसिड बैटरी में आपको लगभग 400 से 500 चार्जिंग साइकिल मिलते हैं वहीं इनकी लिथियम बैटरी में आपको 4000 से भी ज्यादा चार्जिंग साइकिल मिलते हैं.

3.Weight : वजन के मामले में इनकी लिथियम बैटरी में lead एसिड बैटरी से लगभग पांच गुना कम वजन होता है.

4 size : आकार की बात करें तो लेड एसिड बैटरी के मुकाबले चार गुना कम आकार में आपको उतनी ही पावर लिथियम बैटरी दे सकती है. अगर आप चार लेड एसिड बैटरी लगाएंगे. तो एक लिथियम बैट्री, एक लेड एसिड बैटरी की जगह में ही आपको चार लेड एसिड बैटरी जितनी पावर मिल जाएगी.

5 Charging Time : अगर आप लेड एसिड बैटरी को उसकी रेटिंग के आधार पर चार्ज करेंगे तो चार्ज होने में लगभग 10 से 15 घंटे का समय लग जाएगा. वही लिथियम बैटरी लगभग 4 से 5 घंटे में फुल चार्ज हो जाती है.

6 Heavy Load : अगर आप लेड एसिड बैटरी पर उसकी रेटिंग से अधिक लोड चलते हैं तो उसकी लाइफ काम हो जाती है. वहीं लिथियम बैटरी पर आप काफी हेवी लोड भी चला सकते हैं. इसीलिए स्कूल, ऑफिस, हॉस्पिटल, पेट्रोल पंप जैसी जगह के लिए लिथियम बैटरी बेस्ट रहती है.

su-vastika inverter review,su-vastika lithium,su-vastika solar india,su-vastika solar system,su-vastika smart inverter,suvastika solar ups,

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
क्या है PM Surya Ghar स्कीम? 1 करोड़ घरों को मिलेगी फ्री बिजली सोलर पैनल बनाने वाली कंपनी के Share Price प्रधानमंत्री सूर्योदय योजना क्या है? जानें किसे मिलेगा इसका लाभ 6 किलोवाट सोलर पैनल से क्या-क्या चला सकते हैं 5 किलोवाट सोलर पैनल से क्या-क्या चला सकते हैं