Solar Battery

Lithium बैटरी क्या है Lead acid और Lifepo4 में अंतर

Lithium बैटरी क्या है Lead acid और Lifepo4 में अंतर

हेलो कैसे हैं आप सभी उम्मीद करता हूं कि आप सभी ठीक होंगे और आज की इस पोस्ट में हम आपको लिथियम आयन बैटरी के बारे में जानकारी देने वाले हैं तो बहुत से लोगों को अभी आप लोगों ने लिथियम बैटरी लगाते हुए और लिथियम बैटरी को यूज करते हुए देखा होगा और आप लोगों ने भी सोचा होगा कि क्यों ना मैं भी अपने इनवर्टर के ऊपर लिथियम बैटरी लगाऊं क्योंकि हमारी जो लेड एसिड बैटरी है यानी की रीसेंट हम अभी जो अपने इनवर्टर के ऊपर बैटरी लगाते हैं .

उसमें आपको काफी सारी मेंटिनेस करनी पड़ती है और उसका वजन भी बहुत ज्यादा होता है और भी काफी सारी हानियाँ है इस बैटरी की क्योंकि इसके अंदर से हानिकारक गैसें निकलती हैं और मान लीजिये की कहीं टॉप फ्लोर के ऊपर या फिर दूसरे फ्लोर के ऊपर आपको सोलर सिस्टम सेट करने की जरूरत पड़ती है और वहीं पर आपको लेड एसिड बैटरी लेकर जाने की जरूरत पड़ जाती है तो यह आपको जो है बहुत दिक्कत होती है क्योंकि इसका वजन जो है वह बहुत ज्यादा हो जाता है.

एक 150 Ah की बैटरी का कम से कम 50 किलो के आसपास वजन होता है वहीं Lithium बैटरी की यदि बात करें तो यदि आप 150 Ah की कॉन्फ़िगरेशन में यदि आप बैटरी लेंगे तो आप को कम से कम 100 Ah की बैटरी लेनी होगी और 100Ah की Lithium बैटरी का प्राइस जो है वह थोड़ा ज्यादा होगा लेकिन वजन जो है वह लगभग 12 से 13 किलो के आसपास होगा .

इसका साइज भी बहुत ही छोटा होगा यानी कि आप एक बारी में 2 बैटरी 3 बैटरी लेकर जा सकते हैं आराम से और इस बैटरी के और भी बहुत सारे फायदे हैं तो अभी तक बहुत से लोग यह सोच रहे थे कि इस बैटरी को आप अपने पुराने इनवर्टर के ऊपर यूज नहीं कर सकते थे क्योंकि इसके लिए आपको नया लिथियम इन्वर्टर लेना होता था है तो अब इसका हल भी नेक्सस कंपनी ने निकाल लिया है.

जिससे आप अपने पुराने इन्वर्टर के ऊपर ही लिथियम आयन बैटरी लगा सकते हैं तो इसकी पूरी जानकारी हम आजकी इस पोस्ट में देंगे कि लिथियम आयन बैटरी क्या है और लेड एसिड बैटरी से आपको कौन-कौन सी हानियां होती है या फिर लेड एसिड और लिथियम आयन बैटरी में क्या फर्क है और हमारे घर में कौन सी बैटरी लगानी चाहिए तो चलिए पोस्ट को शुरू करते हैं और सबसे पहले जानते हैं बैटरी में क्या फर्क है.

Type of Lithium Battery

लिथियम बैटरी दो प्रकार की होती है एक होती है Lithium ion और दूसरी होती है Lifepo4 तो Lithium ion बैटरी वह होती है जो हमारे फोनों के अंदर होती है तो इसके सेल की कैपेसिटी जो है वह थोड़ी सी ज्यादा है इसलिए इससे 12V की बैटरी नहीं बन सकती है और कैसे नहीं बन सकती है वह आप आगे देख सकते हैं अब आप में से काफी लोग यह बात सोच रहें होंगें की हम जो यहाँ पर लिथियम बैटरी की बात कर रहें है यह Lithium ion बैटरी है.

लेकिन में आपको बता दूँ की ये Lithium ion बैटरी नहीं है यह Lifepo4 बैटरी जो की आज कल ट्रेंडिंग में चल रही है अब मुझे लगता है की शायद आपको यह बात सही से समझ में नहीं आई है तो चलिए आपको में सही से समझा देता हूँ तो एक बैटरी को बनाने के लिए हमें 12 वोल्ट की जरूरत होती है तो Lead acid बैटरी का जो सेल होता है वह 2.1 वोल्ट का होता है तो एक बैटरी बनाने के लिए हमें 6 सेल को सीरिज में जोड़ना होगा तो जब 6 सेल हम सीरिज में जोड़ेंगे तो 12.6 वोल्ट मिलेंगें तो इससे हम बैटरी बना सकते है.

लेकिन जब हम Lithium ion सेल से 12 वोल्ट की बैटरी बांयेगें तो Lithium ion का एक सेल 3.7 वोल्ट का है तो इसका आपस में कोई मैच नहीं होगा क्योंकि यदि आप 3 सेल सीरिज में जोड़ेंगें तो (3.7×3 = 11.1V) 11.1 वोल्ट बनेगा और यदि 4 सेल जोड़ेंगें तो (3.7 x 4 = 14.8) 14.8 वोल्ट हमें मिलेंगें तो इस कारण से Lithium ion की बैटरी नही बन सकती है हो सकता है की आगे आने वाले समय में कुछ टेक्नोलॉजी की मदद से Lithium ion की बैटरी बन जाए.

लेकिन अभी Lifepo4 की बैटरी बन रही है क्योंकि इसके सेल की पॉवर जो है वह Lead acid बैटरी के सेल से मैच होती है Lifepo4 का एक सेल 3.2 (3.2×4=12.8V) वोल्ट का होता है तो इसके 4 सेल जोड़कर आप 12 वोल्ट की बैटरी बना सकते है तो इस लिए इस लिए आज मार्केट जो है Lifepo4 बैटरी अवेलेबल है Lifepo4 बैटरी की एक और खूबी है कि यह कभी आग नहीं पकडती है जबकि Lead acid और Lithium ion बैटरी कभी-कभी आग पकड़ जाती है.

Lead Acid और Lifepo4 में अंतर

1. सबसे पहले हम प्राइस की ही बात कर लेते है तो एक 100Ah की Lead acid बैटरी आपको करीब 8 या 9 हजार की मिल जाएगी जबकि एक 100Ah की Lifepo4 बैटरी का प्राइस लगभग 25 या 30 हजार हो सकता है.

2. बैटरी लाइफ के बारे में यदि बात करें तो बैटरी लाइफ उसे कहते हैं जो हम बैटरी को एक बार चार्ज करके उसको फिर वापस डिस्चार्ज करते हैं तो एक Lead acid बैटरी को आप करीब 700 से 800 बार डिस्चार्ज और चार्ज कर सकते हैं जबकि Lifepo4 बैटरी को आप करीब 4 से 5 हजार बार चार्ज और डिस्चार्ज कर सकते हैं.

3. यदि वेट के बारें में बात करें तो एक 150Ah की Lead acid बैटरी का वजन आपको 45 से 50 किलो के आसपास देखने को मिल जायेगा जबकि 100Ah की Lifepo4 का वजन 12 किलो के आसपास होता है.

4. नॉमिनल वोल्टेज की अगर हम यहाँ पर बात करें तो Lead acid का जो सेल है उसकी नॉमिनल वोल्टेज 2.1 वोल्ट है जबकि Lead acid के सेल की नॉमिनल वोल्टेज 3.2 वोल्ट है तो आप इन दोनों से ही 12 वोल्ट के DC उपकरण चला सकते है और आप इन दोनों की ही पूरी कैपेसिटी को यूज कर सकते हैं.

5. Energy Density की अगर बात करें तो Energy Density का मतलब होता है कि आप कितनी कम जगह में कितनी ज्यादा पावर स्टोर करके रख सकते हैं वह Energy Density कहलाता है तो Lead acid बैटरी में Energy Density सबसे कम होती है इसमें 35 वाट हॉर्स पर किलोग्राम Energy Density होती है वही यदि Lifepo4 बैटरी की Energy Density की बात करें तो इसकी Energy Density 160wh/kg है बैटरी की Energy Density ज्यादा होने का फायदा यह होता है कि इससे बैटरी का वेट और साइज कम हो जाता है.

6. इनके बाद यदि बात करें इनकी एफिशिएंसी के बारें में तो एफिशिएंसी उसे कहते है मान लीजिये आप एक बैटरी को चार्ज करने के लिए 1000 वाट लाइट देते है और अप उससे वापस कितने वाट बिजली निकलते है यह चीज एफिशिएंसी कहलाती है तो Lead acid बैटरी की एफिशिएंसी बहुत कम 65-75% होती है जबकि Lifepo4 की बैटरी एफिशिएंसी 97% होती है.

7. सेल्फ डिस्चार्ज की यदि बात करें तो सेल्फ डिस्चार्ज का मतलब होता है मान लीजिए आप एक बैटरी को चार्ज करके रख देती हैं तो वह एक समय के बाद अपने आप डिस्चार्ज होने लगती है इसको सेल्फ डिस्चार्ज बोलते हैं तो Lead acid बैटरी में सेल्फ डिस्चार्ज सबसे ज्यादा होता है करीब 20% होता है जबकि Lifepo4 बैटरी के अंदर 5% होता है मान लीजिए आप Lead acid बैटरी को चार्ज करके रख देते हैं 1 महीने के लिए तो एक महीने में 20% डिस्चार्ज हो जाएगी और अगले महीने के अंदर भी 20% डिस्चार्ज होगी लेकिन Lifepo4 बैटरी 5% से भी कम डिस्चार्ज होगी.

8. इन बैटरीयों में से Choice आपकी है कि आपको कौन सी बैटरी लेनी है यदि सबसे सस्ती बैटरी आपको चाहिए तो आप Lead acid बैटरी ले सकते हैं यह सबसे सस्ती बैटरी है और यदि आप हल्की और छोटे साइज की बैटरी लेना चाहते हैं तो आप Lifepo4 बैटरी ले सकते हैं वैसे Lifepo4 बैटरी की अभी नई टेक्नोलॉजी है यह अभी मार्केट में ज्यादा पॉपुलर नहीं हुई है तो धीरे-धीरे मार्केट में जैसे-जैसे इसकी पॉपुलरटी बढ़ती जाएगी इनका प्राइस जो है वह भी कम होता चला जाएगा.

जहां पर हमने आपको लिथियम बैटरी के बारे में जानकारी दी है कि लिथियम बैटरी क्या होती है और हमारे इनवर्टर पर कौन सी लिथियम बैटरी लगती है और लिथियम बैटरी और लेड एसिड बैटरी में क्या अंतर है यह सभी जानकारी हमने आपको यहां पर दी है तो यदि इसके बारे में आपका कोई सवाल है सुझाव हो तो आप हमसे कमेंट करके पूछ सकते हैं तो मिलते हैं इसी तरह की नेक्स्ट जानकारी के साथ तब तक के लिए धन्यवाद.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
अब बिना बैटरी के चलेगा Solar, 25 साल तक मुफ्त मिलेगी बिजली क्या है PM Surya Ghar स्कीम? 1 करोड़ घरों को मिलेगी फ्री बिजली सोलर पैनल बनाने वाली कंपनी के Share Price प्रधानमंत्री सूर्योदय योजना क्या है? जानें किसे मिलेगा इसका लाभ 6 किलोवाट सोलर पैनल से क्या-क्या चला सकते हैं