Solar System

ऑन ग्रिड सोलर सिस्टम के फायदे और नुकसान इसे लगवाने का खर्च

ऑन ग्रिड सोलर सिस्टम के फायदे और नुकसान इसे लगवाने का खर्च

आज की इस पोस्ट में हम डिटेल में बात करने वाले हैं. ऑन ग्रिड सोलर सिस्टम क्या होता क्या Working होती है, क्या क्या Benefits होते हैं. और कितने तरह के होते है. ऑन ग्रिड सोलर सिस्टम अलग अलग तरह के होते है. जिसके बारे में हम डिटेल में बात करने वाले है. सबसे पहले इसकी Working समझ लीजिये.

ओन ग्रिड जो सोलर सिस्टम होता है. वह आपकी ग्रिड की आने वाली सप्लाई को सोलर panel की सप्लाई से मिलाकर एप्लायंस को चलाते है.मान लीजिये आपके घर में एक किलो वाट का लोड चला हुआ हैं. और आपने छत पे एक किलो वाट के panel लगाये हुए है.

एक किलो वाट के panel से हमें पूरी एक किलो वाट Power तो नही मिलती तो ऐसे में हम suppose कर लेते है. की हमे 700 वाट पॉवर सोलर panel से मिल रही हैं. तो जो एक्स्ट्रा 300 वाट जररूत पड़ेगी. वो ग्रिड से लेगा ग्रिड की और आपके panel की सप्लाई मिलके. आपका एक किलो वाट लोड चल जाएगा.

ऐसे में आपका जो बिजली का Bill कम हो जाता है. लेकिन इसकी सबसे बड़ी limitation ये हैं. की ये बिना ग्रिड के काम नहीं करता है. अगर आपके घर में ग्रिड की सप्लाई चली जाती है, तो आपका ऑन ग्रिड सोलर सिस्टम किसी काम का नहीं रहता तो इसिलिये इसको उसी जगह पे लगाया जा सकता है.

जहाँ पर दिन के 24 घंटे बिजली रहती है. क्योंकि अगर आपके यहाँ पे बिजली किसी भी टाइम जाती हैं. यो आपको बैकअप के लिए फिर से इन्वर्टर की जरूरत पड़ती है. बैटरी की जरूरत पड़ती हैं. तो ऐसे में आप ऑन ग्रिड की वजाय ऑफ ग्रिड ही लगवा लीजिये क्योंकि उसमे आपको बैकअप का आप्शन मिल जाता है.

उसमे सिर्फ आपको सोलर panel ही लगाने पड़ते हैं. तो अगर आपके घर में 24 घंटे लाइट आती हैं. तो आप ऑन ग्रिड सोलर सिस्टम लगवा सकते हैं. या इसके अलावा ऑफ ग्रिड या हाइब्रिड की तरफ जा सकते है.

ऑन ग्रिड कितने प्रकार का होता है

अब बात करते हैं. ये कितने प्रकार का होता हैं. तो आमतोर पर ऑन ग्रिड सोलर सिस्टम आपको तीन तरह का देखने को मिलता है.

1. On Grid Solar System
2. AC Module
3. Hybrid Solar System

एक होता हैं. जो वही नोर्मल्ली ऑन ग्रिड जो हम लगवाते हैं. दूसरा होता है. AC मॉड्यूल जो कि अभी मार्केट में नया नया आया है. AC मॉड्यूल के बारे में डिटेल में मैंने पोस्ट बनाई हैं. वो आप देख सकते हैं. इसके अलावा होता हैं.

हाइब्रिड, हाइब्रिड के अंदर आपको ऑन ग्रिड और ऑफ ग्रिड दोनों के ही features मिल जाते है. वो थोड़ा सा कॉस्टली भी होता है. ऑन ग्रिड Mostly हम इसीलिए लगवाते हैं. की इसके ऊपर हमें थोड़ी सब्सिडी मिल जाती है.

ऑन ग्रिड सोलर सिस्टम लगवाने का खर्च

हालांकि कई जगह पर सब्सिडी नहीं मिलती हैं. तो अगर सब्सिडी का सोचकर आप इसे लगवाना चाहते हैं. तो मत लगवाइए क्योंकि सब्सिडी मिलने के चांस बहुत कम रहते हैं. अगर आप अपने बिजली का बिल कम करना चाहते हैं. अभी यह सिस्टम लगवा सकते हैं.

तो यहां पर AC मॉड्यूल और नॉर्मल ऑन ग्रिड में जो सस्ता हैं. वह नॉर्मल ऑन ग्रिड होता हैं. जो ऐसी मॉड्यूल वाला हैं. वह काफी कॉस्टली पड़ता हैं. लगभग 70 से 80 हजार में 1 किलो वाट का सिस्टम आपके घर में लगता है.वही ऑन ग्रिड सोलर सिस्टम जो हैं.

वो 50 से 60 हज़ार रुपए में लग जाता हैं. और इससे कम में भी लग सकता हैं. तो दोनों की प्राइस जो कंपेयर करेंगे तो आपको बहुत डिफरेंस देखने को मिलता है.

ऑन ग्रिड सोलर सिस्टम के फायदे

AC मॉड्यूल वाला Solar system में आप एक पैनल लेकर भी अपने घर में लगवा सकते हैं. जिससे आपके बिजली का बिल कम हो जाता है. जो दूसरा ऑन ग्रिड हैं.

उसके लिए फिर आपको नेट मीटरिंग की आवश्यकता पड़ती है. एक्स्ट्रा सप्लाई आप generate करते हैं. तो वापिस ग्रिड में चली जाए इसमें आपको बेनिफिट भी हो जाता हैं. तो यहाँ पर AC मॉड्यूल के और ऑन ग्रिड दोनों के ही अपने अपने फायदे है.

ऑन ग्रिड सोलर सिस्टम के नुकसान

इसका उपयोग आप तभी कर पाते है. जब आपके घर में 24 घंटे इलेक्ट्रिसिटी रहती हो इसके अलावा ऑन ग्रिड का सबसे बड़ा फायदा यह होता हैं. कि इसमें आपको बैटरी का कोई भी झंझट नहीं रहता हैं. अदरवाइज आपको पता ही हैं. कि बैटरी काफी जल्दी खराब हो जाती हैं.

हालांकि 2 से 3 साल चलती हैं. अभी कुछ जो बैटरीया हैं. सोलर बैटरीया हैं. वह 5 से 6 भी साल चल जाती हैं. तो ऐसे में 5 से 6 साल बाद में भी आपका जो बैटरी का कॉस्ट हैं. वह फिर से लगता है.

तो ऑन ग्रिड सिस्टम में आपकी यह सिरदर्द ही नहीं रहती हैं. ऑफ ग्रिड में आपको बैटरी चेंज करने की आवश्यकता रहती हैं. हालांकि अभी लिथियम बैटरी आनी शुरू हो गई हैं. जिनकी लाइफ लेड एसिड से काफी ज्यादा होती हैं. लेकिन वह कोस्टली भी उसी के आधार पर होती हैं.

यहां पर ऑलमोस्ट दुगनी कॉस्ट पर हैं. लिथियम बैटरीया तो लिथियम बैटरी को लगाना अभी सही नहीं हैं. तो जैसे ही लिथियम बैटरीयो की प्राइस कम होती है.

तब इसको लगाने का फायदा आपको हो जाता हैं. तो यहां पर हमने बात की इसकी व की और प्राइसिंग की हालांकि जो प्राइसिंग हैं. वह अलग अलग रहती हैं. आपको 1 किलो वाट का जो ऑन ग्रिड सोलर सिस्टम हैं. वो 50 से 60 हज़ार रुपये में आपको बड़ी आराम से मिल जाता हैं.

तो ऐसे ही अगर आप 2 किलो वाट का लगवाते हैं. तो लगभग आपको 1 लाख रुपये में मिल जाता हैं. हालांकि यह जो कॉस्टिंग हैं. वह कई जगह पर कम भी हो सकती हैं. और कई जगह पर ज्यादा भी हो सकती हैं. यह डिपेंड करेगा कि आप कहां से और कौन से ब्रांड का सिस्टम ले रहे हैं.

अगर आपने ऑन ग्रिड सोलर सिस्टम लगवाया हैं. किस कीमत पर लगवाया हैं. आपको सब्सिडी मिली हैं. या नहीं मिली हैं. ये जानकारी आप पोस्ट के निचे कमेंट करके हमें बता सकते हैं. या पूछ सकते हैं. जिससे की और लोगो को भी इस चीज के बारे में जानने का मोका मिले

अगर इसके बारे में अभी भी आपका कोई सवाल या सुझाव हो तो निचे कमेंट बॉक्स में कमेंट करे यदि पोस्ट आपको पसंद आई हो तो अपने दोस्तों को शेयर करे.ऑन ग्रिड सोलर सिस्टम इन लखनऊ हाइब्रिड सोलर सिस्टम क्या हैं. ऑफ ग्रिड सोलर सिस्टम प्राइस सब्सिडी सोलर सिस्टम ऑन ग्रिड सोलर सिस्टम इन राजस्थान

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
अब बिना बैटरी के चलेगा Solar, 25 साल तक मुफ्त मिलेगी बिजली क्या है PM Surya Ghar स्कीम? 1 करोड़ घरों को मिलेगी फ्री बिजली सोलर पैनल बनाने वाली कंपनी के Share Price प्रधानमंत्री सूर्योदय योजना क्या है? जानें किसे मिलेगा इसका लाभ 6 किलोवाट सोलर पैनल से क्या-क्या चला सकते हैं