Solar System

ओन ग्रिड ऑफ ग्रिड और हाइब्रिड सोलर सिस्टम क्या है और इनकी कीमत

ओन ग्रिड ऑफ ग्रिड और हाइब्रिड सोलर सिस्टम क्या है और इनकी कीमत

अब बिजली हमारे जीवन का एक महत्वपूर्ण हिस्सा है। आज शायद ही कोई काम बिना बिजली के होगा। इसलिए आज बिजली का उपयोग पहले से बहुत अधिक होना शुरू हो गया है। लेकिन बिजली का उपयोग बढ़ता जाता है। बिजली के दाम भी बढ़ते जा रहे हैं। इसलिए अधिकांश लोग सोलर पैनल का उपयोग करके अपने बिजली बिल को कम करते हैं। लेकिन कुछ लोगों को पता नहीं है कि किस प्रकार के सोलर सिस्टम का उपयोग करना चाहिए। विभिन्न सोलर प्रणाली मार्केट में उपलब्ध हैं। जो आपको नीचे विस्तृत रूप से बताया जाएगा और आपको उनमें से कौन सा लगवाना चाहिए।

1.ऑन ग्रिड सोलर सिस्टम

On Grid Solar System in Hindi : यह ऑन ग्रिड सोलर सिस्टम है। कि तभी है जब आपके घर में ग्रिड सप्लाई होगी। सिस्टम घर की ग्रिड सप्लाई पर निर्भर करेगा। इस सोलर सिस्टम में आपको दो-directional meter, सोलर पैनल और सोलर इनवर्टर लगाना होगा। जो आपके घर में आने वाली ग्रिड सप्लाई के साथ-साथ वापस ग्रिड में भेजे जाने वाली सप्लाई को भी रिकॉर्ड करता है।

 

यह ऑन ग्रिड सोलर सिस्टम का लाभ है। कि इससे सोलर पैनल की तुलना में अधिक पावर मिलता है। अगर आप उस शक्ति का पूरा उपयोग नहीं कर सकते हैं। इसलिए यह पावर ग्रिड में प्रवेश करता है। जैसे कि आपका विद्युत बिल है। वह लुप्त हो जाता है।

वहां पर ऑन ग्रिड सोलर सिस्टम का उपयोग किया जा सकता है। जहां दिन में कम से कम दस घंटे की ग्रिड सप्लाई होती है क्योंकि पूरी प्रणाली तभी काम करती है। जब grid supply आता है और जब ग्रिड की सप्लाई बंद हो जाएगी। यह सिस्टम भी काम करना बंद कर देता है। यही कारण है कि अगर आप एक ऑन ग्रिड सोलर सिस्टम लगवाने की सोच रहे हैं, तो आपके घर में बिजली सुबह 8:00 बजे से शाम 5:00 बजे तक होनी चाहिए, तो यह आपके लिए अच्छा होगा।

इस सोलर सिस्टम में बैटरी नहीं प्रयोग की जाती, इसलिए ग्रिड की आपूर्ति समाप्त होने के बाद आपको बैटरी बैकअप नहीं मिलता। अगर आपको बैटरी बैकअप चाहिए। तो आपको ऑन ग्रिड सोलर सिस्टम की बजाय ऑफ ग्रिड सोलर सिस्टम खरीदना होगा, जो नीचे बताया जाएगा।

ऑन ग्रिड सोलर सिस्टम की कीमत

सोलर सिस्टम की कीमत इसके Size ,Brand , Quality इत्यादि पर निर्भर करती है. अगर एक अनुमान की बात की जाए तो ऑन ग्रिड सोलर सिस्टम आपको कितने रुपए में लगेगा इसकी सूची नीचे दी गई है.

On Grid Solar System Size Approx. Price
1kw Solar System Rs. 60,000
2kw Solar System Rs. 85,000
3kw Solar System Rs. 1,15,000
5kw Solar System Rs. 1,75,000
6kw Solar System Rs. 2,00,000
8kw Solar System Rs. 2,65,000
10kw Solar System Rs. 3,75,000

यह ऑन ग्रिड सोलर सिस्टम की कीमत सिर्फ एक अनुमान है। क्योंकि विभिन्न कंपनियां इसे अलग-अलग मूल्य पर बेचती हैं लेकिन यहां पर अगर आप पैनल की गुणवत्ता बदलते हैं। इसलिए इसकी कीमत भी बदलती है। उदाहरण के लिए, अगर आप इसमें पॉलीक्रिस्टलाइन सोलर पैनल लगाते हैं। जो कि प्रति वाट 25 से 30 रुपये होंगे। यही कारण है कि आपके सोलर सिस्टम की लागत कम होगी।

बाई फेशियल या मोनोक्रिस्टलाइन सोलर पैनल का उपयोग करने पर आपके सोलर सिस्टम की कीमत बहुत अधिक होगी। यही कारण है कि सोलर सिस्टम लगाने से पहले आपको पता होना चाहिए कि आपके लिए सही सोलर पैनल कौन सा होगा. इसके बारे में हमने पहले ही एक पोस्ट लिखी है। वह आपकी पढ़ाई कर सकता है। इससे आपको सही सोलर पैनल मिलेगा।

सोलर पैनल के प्रकार और सोलर पैनल की कीमत

2.ऑफ ग्रिड सोलर सिस्टम

Off Grid Solar System in Hindi : आजकल सोलर प्रणाली का बहुत उपयोग होता है। क्योंकि इसके लिए किसी भी प्रकार की ग्रेड की सप्लाई की आवश्यकता नहीं होती, इसलिए आपके घर में बिजली नहीं है तो भी यह सोलर सिस्टम काम करेगा इस सोलर प्रणाली में सोलर पैनल, इन्वर्टर और बैटरी का उपयोग किया जाना चाहिए। इसमें सोलर बैटरी लगानी चाहिए। इसलिए इसकी कीमत वह थोड़ा अधिक है। लेकिन आपको बैटरी बैकअप की जरूरत होगी। आपका घर बिजली के कनेक्शन से दूर है। तो आपको बैटरी या ऑफ ग्रिड सोलर सिस्टम लगाना होगा।

ऑफ ग्रिड सोलर सिस्टम की कीमत

ऑफ ग्रिड सोलर सिस्टम की कीमत कई चीजों पर निर्भर करेगी, जैसे कि सोलर इनवर्टर का प्रकार क्या है। किस प्रकार का सोलर पैनल लगाना चाहिए? कितनी बड़ी बैटरी स्थापित करनी है? ऑफ ग्रिड सोलर सिस्टम की कीमत भी इसी पर निर्भर करती है। लेकिन कंपनियों द्वारा ऑफ ग्रिड सोलर सिस्टम का अनुमान करने के लिए आपको नीचे मिल जाएगा। उनकी लागत बताई गई है। इससे आपको अंदाजा लगा सकते हैं कि अगर आप ग्रिड सोलर सिस्टम देखते हैं। इसलिए आपको कितनी रकम देनी पड़ सकती है? लेकिन यहां दी गई कीमत अधिक या कम हो सकती है।

Solar System Size Approx. Price
1kW Solar System Price Rs. 70,000
2kW Solar System Price Rs. 1,50,000
3kW Solar System Price Rs. 2,10,000
5kW Solar System Price Rs. 3,50,000
6kW Solar System Price Rs. 4,00,000
7.5kW Solar System Price Rs. 5,00,000
10kW Solar System Price Rs. 6,25,000

ऊपर बताई गई कीमत कंपनियों द्वारा ली जाती है. क्योंकि इसके अंदर काफी Charges लगते है. इसीलिए यह सिस्टम आपको थोड़ा महंगा पड़ता है. अगर आप इसे खुद से इंस्टॉल करेंगे तो आप काफी पैसे बचा सकते है. जैसे उदाहरण के लिए अगर आप 1 किलोवाट का ऑफ ग्रिड सोलर सिस्टम लगाना चाहते है. तो नीचे आपको उसकी कीमत बताई गई है. जो कि आपको खुद इंस्टॉल करने पर पड़ेगी.

  • 1450 VA Pwm सोलर इन्वर्टर = Rs.6,000*
  • 1 सोलर बैटरी = Rs.13000*
  • 1 Kw सोलर पैनल = Rs.25,000* ( पॉलीक्रिस्टलाइन )
  • Rs.10,000* Extra वायरिंग और स्टैंड के लिए
  • Total = Rs.54,000*

Rs. 54,000* रुपए में आप खुद का 1 किलोवाट का सोलर सिस्टम लगा सकते है.

* = Approx.

3.हाइब्रिड सोलर सिस्टम

Hybird Solar System In hindi :  हाइब्रिड सोलर सिस्टम एक ऐसा सिस्टम है. जो कि ऑन ग्रिड सोलर सिस्टम और ऑफ ग्रिड सोलर सिस्टम दोनों की तरह काम कर सकता है.

यदि आपको बैकअप की जरूरत है तो आप इससे भी बैकअप ले सकते हैं. अगर आप सोलर पैनल से बिजली बनाते हैं तो आप इसे वापिस ग्रिड में भेज सकते हैं, जिससे आपका बिजली का बिल कम होगा। लेकिन ऑन ग्रिड और ऑफ ग्रिड सोलर सिस्टम की तुलना में इसकी लागत अधिक है। इसका उपयोग उन जगहों पर किया जा सकता है जहां दिन में बिजली थोड़ी बहुत देर चलती है। लेकिन दिन में बिजली देरी होने पर ऑफ ग्रिड सोलर सिस्टम ही लगाना चाहिए।

4.Normal Inverter का सोलर सिस्टम

आप अपने नॉर्मल इनवर्टर पर सोलर पैनल लगाकर उसे सोलर सिस्टम में बदलना चाहते हैं, तो आप इसके लिए कुछ कम पैसे खर्च कर सकते हैं। इसके लिए आपको पहले अपने इनवर्टर पर कितने पैनल लगाने चाहिए पता होना चाहिए। यदि आपके पास बैटरी इनवर्टर है, तो आप एक किलो वाट से अधिक के सोलर पैनल इस पर लगा सकते हैं।

यदि आप 500 वाट के सोलर पैनल को अपने नॉर्मल इनवर्टर पर लगाना चाहते हैं, तो आप Smarten Company का MPPT 30 Amps, 12-24V सोलर चार्ज कंट्रोलर लगा सकते हैं. इससे एक बैटरी पर 500 वाट का सोलर पैनल लगाया जा सकता है, जबकि सोलर पैनल कोर 2 बैटरी वाले सिस्टम पर 1000 वाट का सोलर पैनल लगा सकता है।

सोलर पैनल और सोलर चार्ज कंट्रोलर को नॉर्मल इनवर्टर पर लगाने से आप काफी पैसे बच सकते हैं। लेकिन अगर आप सोलर पैनल का उपयोग करना चाहते हैं तो आप सिर्फ सोलर बैटरी का उपयोग करना चाहिए क्योंकि सोलर बैटरी को अधिक शक्ति से भी चार्ज किया जा सकता है। नॉर्मल बैटरी को अधिक करंट से चार्ज करना जल्दी खराब हो जाएगा। यही कारण है कि सोलर पैनल के साथ हमेशा सोलर बैटरी का उपयोग करें।

इसलिए आज की पोस्ट में आपको तीन अलग-अलग सोलर प्रणाली बताया गया है। अलग-अलग स्थानों पर तीनों का प्रयोग होता है नीचे कमेंट करके हमें बताएं कि आपको किस प्रकार का सोलर सिस्टम चाहिए या आपको इसके बारे में अधिक जानकारी चाहिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
अब बिना बैटरी के चलेगा Solar, 25 साल तक मुफ्त मिलेगी बिजली क्या है PM Surya Ghar स्कीम? 1 करोड़ घरों को मिलेगी फ्री बिजली सोलर पैनल बनाने वाली कंपनी के Share Price प्रधानमंत्री सूर्योदय योजना क्या है? जानें किसे मिलेगा इसका लाभ 6 किलोवाट सोलर पैनल से क्या-क्या चला सकते हैं