सोलर पैनल के प्रकार और सोलर पैनल की कीमत

सोलर पैनल के प्रकार और सोलर पैनल की कीमत

चाहे ऑन ग्रिड या ऑफ ग्रिड सोलर सिस्टम हो, सोलर पैनल का ही उपयोग होता है। लेकिन आप मार्केट में कई प्रकार के सोलर पैनल देख सकते हैं।

इसलिए कुछ लोगों को पता नहीं है कि उनके लिए सही सोलर पैनल कौन से होंगे। यदि आप किसी के भी कहने पर ऐसे ही सौर पैनल खरीद लेते हैं, तो आपको पछताना पड़ सकता है, या आपको उनके बदलने की जरूरत हो सकती है, जो बाद में आपके लिए अधिक खर्चीला होगा।

यही कारण है कि सोलर पैनल लगाने से पहले आपको सभी प्रकार के सोलर पैनल की जानकारी होनी चाहिए. इस वीडियो में हम आपको सोलर पैनल के सभी प्रकार के बारे में बताने वाले हैं ताकि आपको सही सोलर पैनल का चुनाव करने में आसानी हो और जो भी सोलर पैनल आप खरीदते हैं, वह आपके लिए ज्यादा फायदेमंद हो।

सोलर पैनल के प्रकार

सोलर पैनल कई प्रकार के आते हैं अगर इनके डिजाइन के हिसाब से बात करें तो आज की मार्केट में चार प्रकार के ही सोलर पैनल आपको ज्यादा देखने को मिलते हैं.

1. पॉलीक्रिस्टलाइन सोलर पैनल
2. मोनो परक सोलर पैनल
3. हाफ कट मोनो परक सोलर पैनल
4. बायफेशियल सोलर पैनल

इसके अलावा इनकी cells के हिसाब से भी मुख्य तीन तरह के पैनल आपको मार्केट में देखने को मिलते हैं जिन्हें हम अलग-अलग वोल्टेज के सिस्टम पर अलग-अलग तरह से उपयोग करते हैं.

1. 36 cells
2. 60 cells
3. 72 cells

तो जहां पर आपके सामने कुल 7 प्रकार के सोलर पैनल है लेकिन डिजाइन के आधार पर आपको पहले ध्यान रखना है उसके बाद में ही आपको इनके cells के हिसाब से यह खरीदने होंगे तो सबसे पहले हम बात करेंगे इनके डिजाइन के हिसाब से जो पैनल है वह क्या है और उन में क्या खास बात है.

1. पॉलीक्रिस्टलाइन सोलर पैनल

Polycrystalline Solar Panel In Hindi : सबसे अधिक प्रयुक्त पॉलीक्रिस्टलाइन सोलर पैनल एक पुरानी तकनीक है। यह सोलर पैनल सबसे अधिक उपयोग करने का सबसे बड़ा कारण है कि वे बहुत सस्ता हैं। आपको पता है कि सोलर पैनल बनाने में सिलिकॉन धातु का उपयोग किया जाता है, लेकिन मोनोक्रिस्टलाइन सोलर पैनल यद्यपि पैनल में शुद्ध सिलिका का उपयोग किया जाता है, लेकिन इसमें सिलिकॉन के अलावा कुछ अन्य धातुओं की मिश्रण होती है, जिससे इसकी लागत कम होती है।

solar-panel

पॉलीक्रिस्टलाइन सोलर पैनल की सेल नीली होती हैं। फोटो में दिखाया गया है कि पॉलीक्रिस्टलाइन सोलर पैनल को ऐसी जगह पर लगाया जाता है जहां धूप बहुत अच्छी रहती है। बर्फीले इलाकों में इसका उपयोग नहीं किया जाता, जहां दिन में धूप बहुत कम होती है; हालांकि, अगर आपके स्थान पर अच्छी धूप है तो आप पॉलीक्रिस्टलाइन सोलर पैनल का उपयोग कर सकते हैं। नहीं, इसके अन्य रूपों के बारे में आपको नीचे बताया जाएगा जो आप ले सकते हैं लेकिन आपके घर पर आते हैं।

पॉलीक्रिस्टलाइन सोलर पैनल की कीमत

Watt के हिसाब से आप सोलर पैनल खरीद सकते हैं। यानी हर वॉट के लिए आपको पैसा देना होगा। पॉलीक्रिस्टलाइन सोलर पैनल के प्रति वाट की कीमत लगभग २० रुपए से २५ रुपए तक होती है। जितनी कम वाट का सोलर पैनल खरीदेंगे उतनी ही महंगा होगा, और जितनी अधिक वाट खरीदेंगे उतनी ही सस्ता होगा।

2. मोनो परक सोलर पैनल

Mono PERC Solar Panel In Hindi : मोनो सोलर पैनल की सेल दिखने में काले रंग की होती है, जैसा कि चित्र में दिखाया गया है। इस तरह के सोलर पैनल को ऐसे स्थानों पर लगाया जाता है जहां धूप कम होती है। क्योंकि यह सोलर पैनल कम प्रकाश में भी अच्छा काम करता है शुद्ध सिलिकॉन का उपयोग करने से इस सोलर पैनल की दक्षता (efficiency) पॉलीक्रिस्टलाइन सोलर पैनल से अधिक है।इसलिए, इस सोलर पैनल की कीमत भी पॉलीक्रिस्टलाइन सोलर पैनल से अधिक है। आप इस सोलर पैनल का उपयोग कर सकते हैं अगर दिन भर में अधिकांश बादल रहते हैं या कम धूप होती है।

72-mono-min

मोनो परक सोलर पैनल की कीमत

यह सोलर पैनल भी प्रति वाट के हिसाब से ही मिलता है, जैसा कि पॉलीक्रिस्टलाइन। और छोटा पैनल या कम वॉट का पैनल खरीदना अधिक खर्चीला होता है। और जितना ज्यादा वाट का पैनल आप खरीदेंगे, उतना ही सस्ता पैनल मिलेगा। यह पैनल प्रति वाट लगभग 25 से 30 रुपए में मिलता है।

3. हाफ कट मोनो परक सोलर पैनल

Half Cut Solar Panel In Hindi : हाफ कट मोनो परक सोलर पैनल, इसके अंदर लगे हुए सिरे को दो भागों में काटकर मोनो परक तकनीक को आगे बढ़ाता है। नीचे चित्र में दिखाया गया है कि इस सोलर पैनल के अंदर 144 सेल हैं। इस सोलर पैनल को ऐसे स्थानों पर लगा सकते हैं जहां अक्सर छाया आती है। जब साधारण सोलर पैनल पर छाया आती है तो वह काम नहीं करता, लेकिन अगर छाया कट सोलर पैनल के आधे भाग पर भी आती है तो वह आधा काम करता है। इसलिए आप इस सोलर पैनल का उपयोग वहां कर सकते हैं जहां आधे हिस्से पर छाया आती है।

panel half cut

हाफ कट सोलर पैनल की कीमत

सस्ते हाफ कट सोलर पैनल भी लगभग 30 रुपए से 35 रुपए प्रति वाट हो सकते हैं, यह निर्भर करता है कि आप इन्हें ऑनलाइन खरीदते हैं या नहीं; अगर आप ऐसा करते हैं तो आपको यह काफी महंगा पड़ेगा, लेकिन आप पहले स्थानीय बाजार से सोलर खरीद सकते हैं।

4. बायफेशियल सोलर पैनल

Bifacial Solar Panel In Hindi : वर्तमान में बायोफेशियल सोलर पैनल के लिए पर्याप्त तकनीक नहीं है और इस तरह के सोलर पैनल मार्केट में बहुत कम हैं। यह सोलर पैनल दोनों तरफ से बिजली बना सकता है, इसलिए यह दूसरे सभी सोलर पैनल से बहुत अधिक दक्ष है। बायफेशियल सोलर पैनल में एक सफेद सीट होती है, लेकिन इसकी जगह कांच का गिलास होता है. इससे सोलर पैनल की दक्षता 30% तक बढ़ सकती है क्योंकि सोलर पैनल के पीछे पड़ने वाली सूर्य की किरणें प्रतिबिंबित होकर पिछले हिस्से पर पड़ती हैं। यदि आप कम जगह में अधिक सोलर पावर बनाना चाहते हैं तो आप इस सोलर पैनल को लगा सकते हैं।

bifacial

बायफेशियल सोलर पैनल की कीमत

बायफेशियल सोलर पैनल की टेक्नॉलॉजी बहुत नई है, लेकिन यह दूसरों की तुलना में अधिक दक्ष है। इसलिए इस सोलर पैनल की कीमत मार्केट में थोड़ी अधिक होगी। यह सोलर पैनल प्रति वाट 40 से 45 रुपए में मिलेगा।

इसलिए, इनमें से कौन सा आप अपने स्थान और बजट के अनुसार खरीद सकते हैं। आप पॉलीक्रिस्टलाइन सोलर पैनल खरीद सकते हैं अगर आपके घर पर अच्छी धूप आती है और जगह आपके पास है। आप मोनोक्रिस्टलाइन या हाफ कट सोलर पैनल भी खरीद सकते हैं अगर आपके घर में पर्याप्त धूप नहीं है और जगह भी है।अब सेल के अनुसार सोलर पैनल के कितने प्रकार होते हैं।

1. 36 Cells के सोलर पैनल

36-cell-min

12v सोलर पैनल अक्सर बैटरी वाले सिस्टम में प्रयोग किए जाते हैं। इस तरह के सोलर पैनल काफी छोटे हैं और 36 बैटरी में लगभग 22 वॉट की VOC होती है। 36 सेल में 50 वाट से 150 वाट के पैनल भी खरीद सकते हैं। आप 30 सेल्स वाले सोलर पैनल खरीद सकते हैं अगर आपके पास बैटरी व्यवस्था है। लेकिन सोलर पैनल को सीधे बैटरी पर नहीं लगाना चाहिए; इसके बजाय सोलर चार्ज कंट्रोलर का उपयोग करें।

2. 60 Cells के सोलर पैनल

60s-min

60 सेल सोलर पैनल को 24v सोलर पैनल भी कहते हैं इस तरह के सोलर पैनल दो बैटरी वाले सिस्टम पर लागू होते हैं। इस तरह के सोलर पैनल में VOC लगभग 33 वोल्ट होते हैं। हमारे घरों में लगे सोलर सिस्टम में इस तरह के सोलर पैनल का अधिकांश उपयोग होता है। 60 बैटरी वाले सोलर पैनल का इस्तेमाल कर सकते हैं अगर आप दो बैटरी वाली व्यवस्था बनाना चाहते हैं। आपके पास 60 सेल वाले सोलर पैनल का उपयोग करने के लिए एक MPPT सोलर चार्ज कंट्रोलर या सोलर इनवर्टर भी होना चाहिए।

2. 72 Cells के सोलर पैनल

72-mono-min

24v सोलर पैनल 72 सेल का होता है। और इस सोलर पैनल को ऑन ग्रिड और ऑफ ग्रिड सोलर सिस्टम दोनों में प्रयोग किया जाता है। चाहे आप पॉलीक्रिस्टलाइन, मोनोक्रिस्टलाइन या बायफेशियल सोलर पैनल खरीदें, सभी प्रकार के सोलर पैनल 72 सेल में हैं।

इस तरह के सोलर पैनल में VOC लगभग 45 वोल्ट होते हैं।72 सेल वाले सोलर पैनल दो बैटरी वाले सिस्टम पर लगाए जा सकते हैं, लेकिन एक बैटरी वाले सिस्टम पर 72 सेल वाले सोलर पैनल लगाने के लिए आपके पास MPPT सोलर चार्ज कंट्रोलर या सोलर इनवर्टर होना चाहिए।

तो ऊपर आपको सभी प्रकार के सोलर पैनल के बारे में पूरी जानकारी दी गई है अगर इसके बारे में अभी भी आपका कोई सवाल रह जाता है तो हमारे पोस्ट के नीचे कमेंट करके आप हमसे पूछ सकते हैं या हमसे फेसबुक, टि्वटर, इंस्टाग्राम और हमारे यूट्यूब चैनल पर जाकर कमेंट करके भी हमसे पूछ सकते हैं.

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top