News

20 Tubular Battery के बदले लगाये 1 लिथियम बैटरी

20 Tubular Battery के बदले लगाये 1 लिथियम बैटरी

Lead Acid लगाने के वैसे तो बहुत सारे नुकसान होते हैं लेकिन इसके अलावा भी टेक्निकल उसके अंदर सबसे बड़ी दिक्कत Volt को लेकर आती है.अगर आपको 240v का सेटअप तैयार करना है तो इसके लिए आपको 20 बैटरी लगानी पड़ेगी क्योंकि Lead Acid आपको सिर्फ 12v में मिलती है.

तो 12v की 20 बैटरी को सीरीज में जोड़ने पर ही आपको 240v की सप्लाई मिलेगी.लेकिन अब टेक्नोलॉजी बदल गई है.अब मार्केट में आपको लिथियम बैटरी देखने को मिलती है जो कि आप अपनी जरूरत के अनुसार कितने भी volt की तैयार करवा सकते हैं.लिथियम बैटरी आपको 12v से लेकर 360v तक के इनवर्टर के लिए भी मिल जाएगी.

20 Tubular Battery के बदले लगाये 1 लिथियम बैटरी

नीचे आपको एक 20 बैटरी वाला सेटअप दिखाया गया है जिसके अंदर 150Ah@12v की 20 बैटरी दिखाई गई है.यह सेटअप एक ऑफिस में लगाया गया था. जहां पर एयर कंडीशनर जैसे हेवी लोड को चलाया जा रहा था.लेकिन लेड एसिड बैटरी होने के कारणइन बैटरियों को चार्ज होने में भी काफी ज्यादा समय लगता था.और अधिक लोड चलाने पर यह जल्दी डिस्चार्ज भी हो जाती थी.

इसके अलावा लेड एसिड बैटरी जहां पर लगी होती है वहां पर काफी हानिकारक गैस भी बन जाती है क्योंकि चार्जिंग और डिस्चार्ज के समय लेड एसिड बैटरी काफी हानिकारक गैसें छोड़ती है.और काफी बार तेजाब भी बैटरी से बाहर निकल जाता है जिसके कारण आपका फ्लोर भी खराब हो जाता है.

लेकिन सबसे बड़ी दिक्कत आती है जगह को लेकरइन 20 बैटरी को रखने के लिए एक अलग से कमरे की आवश्यकता पड़ती है.लेकिन अब मार्केट में आ गई है Suvastika कंपनी की लिथियम बैट्री.जो कि सिर्फ दो इनवर्टर की जगह में ही आपका 20 बैटरी वाला काम कर सकती है.

Suvastika ESS with Lithium Battery

इस ऑफिस में Suvastika कंपनी का एनर्जी स्टोरेज सिस्टम लगा दिया गया है.जैसा कि आप नीचे फोटो में देख सकते हैं.यहां पर इनवर्टर और बैटरी दोनों ही एक ही आकर के हैं.

लेकिन यह लिथियम बैट्री 20 लेड एसिड बैटरी के बराबर बैटरी बैकअप देती है.यहां पर 15Kva का इनवर्टर और 15kw की लिथियम बैटरी लगाई गई है.जिसके कारण यहां बहुत ही कम जगह में यह लग गया है.लेकिन इस सिस्टम को लगाने के और भी कई सारे फायदे हुए हैं इसके बारे में नीचे बताया गया है.

  • Fast Charging – इससे पहले लेड एसिड बैटरी लगाई गई थी वह लगभग15 घंटे में फुल चार्ज होती थी लेकिन Suvastikaकंपनी का एनर्जी स्टोरेज सिस्टमलगभग 5 से 6 घंटे में फुल चार्ज हो जाता है.
  • Maintenance Free – लेड एसिड बैटरी में जहां बार-बार पानी डालना पड़ता था. उसकेबाद उनकी सफाई के भी ध्यान रखना पड़ता था क्योंकि लेड एसिड बैटरी से तेजाब बाहर आ जाता है तो उसे भी साफ करने की जरूरत पड़ती है.लेकिन यह बैटरी बिल्कुल मेंटेनेंस फ्री है.
  • Life Cycle – लिथियम बैटरी में आपको लगभग 3000 लाइफ साइकिल मिलते हैं जिसके कारण आप इस बैटरी को 8 से 10 साल तक भी बड़े ही आसानी से चला सकते हैं यह निर्भर करेगा कि आप प्रतिदिन बैटरी को कितना उपयोग करते हैं.
  • Size – लेड एसिड बैटरी को लगाने के लिए एक अलग से कमरे की आवश्यकता पड़ती है क्योंकि उसको रखने के लिए आपको काफी जगह की जरूरत पड़ती है साथ ही उसे हार्मफुल गैस भी निकलती है इसलिए आप उसको अलग कमरे में ही रखा जाता है.लेकिन लिथियम बैटरी वाले इस एनर्जी स्टोरेज सिस्टम को आप किसी भी छोटी सी जगह में रख सकते हैं.

Su-vastika ESS Price

कीमत की बात करें तो एनर्जी स्टोरेज सिस्टम अलग-अलग कीमत में आता है. जितनी ज्यादा कैपेसिटी का एनर्जी स्टोरेज सिस्टम लेंगे उसकी कीमत उतनी ज्यादा हो जाती है और जितना छोटा एनर्जी स्टोरेज सिस्टम लेंगे वह उतना सस्ता पड़ता है. इनके एनर्जी स्टोरेज सिस्टम की कीमत जानने के लिए नीचे दिए गए कांटेक्ट नंबर पर कॉल करके आप जान सकते हैं.

15Kva ESS + 15KWh Lithium Battery Price – Rs.6.5 Lakh (Approx.)

Contact for Latest Price : +91 9711 774744

Suvastika ESS के फायदे

एनर्जी स्टोरेज सिस्टम लगाने के बहुत सारे फायदे होते हैं क्योंकि इसके अंदर लिथियम बैटरी का उपयोग किया जाता है.लिथियम बैटरी के फायदे के बारे में ऊपर ही आपको बताया गया है.लेकिन इनके एनर्जी स्टोरेज सिस्टम में स्मार्ट इनवर्टर का भी उपयोग किया जाता है. जिनके अलग से काफी फायदे होते हैं.

1.Digital Warranty : इनके इनवर्टर पर आपको डिजिटल वारंटी मिलती है.इससे पहले ऐसी वारंटी आपको किसी भी कंपनी केइनवर्टर या बैटरी पर नहीं मिलती थी.डिजिटल वारंटी में आपके इनवर्टरकी वारंटी का कामबिना पेपर के होता है.इस वारंटी के अंदर अगर आप अपनी सिस्टम को15 दिन तक बंद भी कर देते हैं और 15 दिन बाद दोबारा चलते हैं तो आपके इनवर्टर की वारंटी 15 दिन बढ़ जाती है.

2.Mobile App Connectivity – इनके इनवर्टर को आप अपनेफोन से कनेक्ट करके आपके इनवर्टर की पूरी जानकारी अपनी फोन पर ही देख सकते हैं.और मोबाइल ऐप में ही आप डिजिटल वारंटी को भी देख सकते हैं जो की Reverse Count Down में चलती है.और जब भी आपका इनवर्टर ऑफ होता है तब वह Count Down बंद हो जाता है.और जब आपका इनवर्टर ओन होता है तो फिर से Reverse Count Down शुरू हो जाता है.

तो इतने सारे फायदे होते हैं इनके एनर्जी स्टोरेज सिस्टम को लगाने.के अगर आप भी अपने घर ऑफिस स्कूल हॉस्पिटलजैसी जगह पर इनका एनर्जी स्टोरेज सिस्टम लगाना चाहते हैं.तो इनसे कांटेक्ट कर सकते हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
अब बिना बैटरी के चलेगा Solar, 25 साल तक मुफ्त मिलेगी बिजली क्या है PM Surya Ghar स्कीम? 1 करोड़ घरों को मिलेगी फ्री बिजली सोलर पैनल बनाने वाली कंपनी के Share Price प्रधानमंत्री सूर्योदय योजना क्या है? जानें किसे मिलेगा इसका लाभ 6 किलोवाट सोलर पैनल से क्या-क्या चला सकते हैं